in

Family Whatsapp Group से परेशान होकर इस लड़की ने जो किया वो काबिल-ए-तारीफ़ है

Family Whatsapp Group… बस नाम ही काफ़ी है. आपको ये शब्द सुनकर ही अपने सारे दर्द याद आ गए होंगे. एक बार में 200-250 Unread Messages का क्रेडिट इन्हीं Whatsapp Groups को जाता है. पता नहीं कौन-कौन से रिश्तेदार ऐसे ग्रुप्स में Added होते हैं.

दिन भर फ़ोन Silent भी नहीं रखा जा सकता और Family Groups पर आने वाले लगातार Messages भी काफ़ी ज़्यादा Irriatate करते हैं. ऐसे में अगर आप Exit करने का ख़्याल भी अपने दिमाग़ में लाएं तो मम्मी कहेंगी, ‘फ़लाना चाचा क्या सोचेंगे, ढिमका मौसी बुरा मान जाएंगी.’ मजबूरन आपको वो अजीब से Good Morning, 10 लोगों को Forward करने वाले Messages झेलने पड़ते हैं.

ऐसे ग्रुप्स में कई बार ऐसी बातें भी होती हैं जो आमतौर पर किसी भी परिवार में आमने-सामने नहीं हो सकती. ये Embarassing होता है. लेकिन छोटे होने के कारण हमें चुप रहना पड़ता है.

लेकिन Namaah ने ऐसा नहीं किया और हिम्मत करके एक लंबा सा Message लिखा और Family Group छोड़ दिया. Nammah ने उस Message का Screenshot ट्विटर पर डाला जिसे लोगों ने काफ़ी सराहा.

In today’s personal victory, I quit my extended-family WhatsApp group. I cannot fully express the relief I feel.

Hi Family,
माफ़ करना मैं इस Group पर उतनी Active नहीं हूं, असल में मैं Whats App पर ही बहुत ज़्यादा Active नहीं हूं.
सच्चाई ये है कि इस Group में ऐसे बहुत सारी Unverified News भेजी जाती हैं. यही नहीं यहां नर-नारी में भी आराम से भेदभाव किया जाता है और विदेशियों को नापसंद करने की बातें की जाती है. मैं इन सब से काफ़ी असहज महसूस करती हूं.
हर मामले में ज़रा सा फ़र्क पता होना ज़रूरी है. जिन बातों को आज आराम से मज़ाक-मज़ाक में फैलाया जा रहा है, वही आगे चलकर हमें कुछ मामलों को लेकर Insensitive भी बना सकता है.
मैं सामाजिक न्याय को लेकर बहुत Sensitive हूं. अगर मैंने ये बातें सब के सामने नहीं रखीं, तो ये पूरी मानव जाति के साथ नाइंसाफ़ी होगी.
मैं किसी की राय नहीं बदल सकती लेकिन मैं ख़ुद को बदल सकती हूं. क्योंकि सिर्फ़ मुझे ही इन चीज़ों से आपत्ति है, तो मुझे लगता है कि मेरा यहां से चले जाना ही अच्छा है.
मैं आप सब से बहुत प्यार करती हूं. अगर आप मुझसे बात करना चाहते हैं तो मुझे Personally Message कर सकते हैं.

इस ट्वीट पर लोगों की प्रतिक्रिया भी पढ़ने लायक हैं-

ऐसा करने के लिए हिम्मत चाहिए. मुझे तुम पर गर्व है.

In today’s personal victory, I quit my extended-family WhatsApp group. I cannot fully express the relief I feel. pic.twitter.com/E02iXtbLvh

एक यूज़र ने ऐसे ही एक Message का Screenshot डाला.

In today’s personal victory, I quit my extended-family WhatsApp group. I cannot fully express the relief I feel. pic.twitter.com/E02iXtbLvh

अगर मैंने इतना कुछ लिखा तो वो मुझे दोबारा Add करेंगे और Message का मतलब पूछेंगे.

In today’s personal victory, I quit my extended-family WhatsApp group. I cannot fully express the relief I feel. pic.twitter.com/E02iXtbLvh

If I write so much before I exit.. they will add me back & ask the meaning :/

Text Version में भेजो. ताकि Copy-Paste कर सकूं.

In today’s personal victory, I quit my extended-family WhatsApp group. I cannot fully express the relief I feel. pic.twitter.com/E02iXtbLvh

Please send as text version so can copy paste in many groups.

तो अब देर किस बात की? Exit करो ऐसे Groups को जहां सब काम-काज छोड़ के Irritating Messages Forward करते हैं.

Source: HT

What do you think?

3 points
Upvote Downvote

Total votes: 3

Upvotes: 3

Upvotes percentage: 100.000000%

Downvotes: 0

Downvotes percentage: 0.000000%

कभी डिप्रेशन से जूझ रही थी दीपिका, लेकिन उसे हराया और आज हर एक को इससे लड़ने की प्रेरणा दे रही हैं

रोज़मर्रा की इन 25 चीज़ों और गतिविधियों पर उत्तर कोरिया में बैन है. शुक्र मनाएं कि हम यहां से दूर हैं!